भारतीय मीडिया फाउंडेशन के सभी मीडिया अधिकारियों को निर्देश जारी बिना HIR दर्ज किए एवं बिना प्रार्थना पत्र का नहीं किया जाएगा किसी प्रकार का सहयोग

*भारतीय मीडिया फाउंडेशन के सभी मीडिया अधिकारियों को निर्देश जारी*

*बिना HIR दर्ज किए एवं बिना प्रार्थना पत्र का नहीं किया जाएगा किसी प्रकार का सहयोग*

*भारतीय मीडिया फाउंडेशन के मीडिया अधिकारी किसी की समस्या उठाने से पहले HIR दर्ज कर अपना रजिस्टर मेंटेन करें*।

 

नई दिल्ली।

भारतीय मीडिया फाउंडेशन नई दिल्ली स्थित राष्ट्रीय कार्यालय से जारी बयान में भारतीय मीडिया फाउंडेशन के संस्थापक एवं केंद्रीय मैनेजमेंट अफेयर्स कमेटी के केंद्रीय अध्यक्ष एवं Indian Human Rights Protection Council, New Delhi के सदस्य सलाहकार मंडल एके बिंदुसार ने कहा कि भारतीय मीडिया फाउंडेशन के मीडिया अधिकारी किसी भी पीड़ित का प्रार्थना पत्र लेकर और उनका रजिस्टर मेंटेन करें पंजीकृत संख्या के साथ HIR (ह्यूमनराइट्स इनफॉरमेशन रिपोर्ट ) दर्ज कर राष्ट्रीय कार्यालय के हेल्पलाइन नंबर 72758 50466 पर सूचित करें। अवलोकन उपरांत उसे ग्रुप में फिर पोस्ट करने का आदेश दिया जाएगा तब उस पर सभी मीडिया अधिकारी कार्रवाई के लिए अधिकारियों से वार्ता करेंगे।

उन्होंने कहा कि बिना एच आई आर दर्ज किए किसी भी प्रकार की समस्या हो उसे ग्रुप में पोस्ट करना सख्त मना है जिससे विवाद से मीडिया अधिकारियों एवं पदाधिकारियों को बचाया जा सके।

किसी की भी समस्या हो उससे संबंधित प्रार्थना पत्र आवश्यक है और आप उस पर काम करेंगे लेकिन टीम के सामूहिक निर्णय के अनुसार किसी का मनमाना पन नहीं चलेगा।

उन्होंने कहा कि जिन साथियों को समस्या उठाना है लोगों के अधिकारों को दिलाना है उनके हक के लिए आवाज बुलंद करना आदि कार्य करना है जो भारतीय मीडिया फाउंडेशन के सदस्य हैं मीडिया अधिकारी हैं तो उन्हें हर हाल में रजिस्टर मेंटेन करना ही होगा तब वह भारतीय मीडिया फाउंडेशन के मंच पर उस प्रकरण को लाया जाएगा । आपके रजिस्टर की भी फोटो कॉपी मांगी जाएगी कि आपने किस दिनांक में एच आई आर दर्ज किया हैं।

हवा हवाई किसी के भी मुद्दे को ग्रुप में पोस्ट करना सख्त मना है और उसकी कोई मदद नहीं की जाएगी चाहे वह कोई भी सदस्य हो पत्रकार हो सामाजिक कार्यकर्ता हो नियम से लोगों को मदद के लिए आवेदन करना होगा।

उन्होंने कहा कि अगर कोई भी मनमाना तरीके से ग्रुप में किसी भी प्रकार की समस्या बिना आदेश का पोस्ट करता है तो उसे डिलीट कर दिया जाएगा और उस व्यक्ति / सदस्य एवं मीडिया अधिकारी- पदाधिकारी को भी ग्रुप से रिमूव किया जाएगा।

उन्होंने भारतीय मीडिया फाउंडेशन के साथियों से अपील करते हुए कहा कि आप अपने संगठन को बेहतर तरीके से संचालित करें मजबूत करें और एक अच्छा उदाहरण प्रस्तुत करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!