Ganga Dussehra 2024 Upay: गंगा दशहरा के दिन करें ये उपाय, सभी पापों से मिलेगी मुक्ति, घर में बरसेगा सौभाग्य

Ganga Dussehra 2024 Remedies: आज यानी रविवार को गंगा दशहरा का पर्व मनाया जा रहा है। इस दिन गंगा स्नान के साथ ही दान का विशेष महत्व है। इसके अलावा गंगा दशहरा के दिन इन उपायों को करने से जीवन की समस्त परेशानियों से मुक्ति मिलती है।Ganga Dussehra 2024: आज यानी 16 जून को गंगा दशहरा का पर्व मनाया जा रहा है। गंगा दशहरा के दिन गंगा स्नान और दान करने से सभी पापों से मुक्ति मिलती है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, आज ही के दिन धरती पर मां गंगा का अवतरण हुआ था। आज के दिन मां गंगा की पूजा-अर्चना करने से सभी मनोकामनाओं की पूर्ति होती है। इसके साथ ही गंगा दशहरा के दिन इन विशेष उपायों को करने से जीवन में चल रही अलग-अलग समस्याओं का समाधान भी मिल जाता है। तो आइए आचार्य इंदु प्रकाश से जानते हैं कि गंगा दशहरा के दिन किन उपायों को करना फलदायी रहेगा।

 

1. अगर आप अपने अन्दर समस्त शक्तियों का संचार करना चाहते हैं और हर तरह की शक्ति पाना चाहते हो तो आज के दिन आपको ‘गंगा दशहरा स्तोत्र’ में दी इन पंक्तियों का जप करना चाहिए। वो पंक्तियां इस प्रकार हैं- ॐ नमः शिवायै गङ्गायै शिवदायै नमो नमः। नमस्ते विष्णुरुपिण्यै ब्रह्ममूर्त्यै नमोऽस्तु ते॥

2. अगर आपकी कोई विशेष इच्छा है जो आप जल्द ही पूरी करना चाहते हैंं तो आज के दिन गंगा मैय्या का ध्यान करते हुए इस पंक्ति का जप करें। वो पंक्ति है- शान्तायै च वरिष्ठायै वरदायै नमो नमः॥ आज के दिन गंगा मैय्या का ध्यान करते हुए इस पंक्ति का जप करने से आपकी इच्छा जल्दी ही पूरी होगी।

3. अगर आप अपने आपको स्वस्थ बनाये रखना चाहते हैं और लंबी आयु की प्राप्ति करना चाहते हैं तो आज के दिन आपको इन पंक्तियों का जप करना चाहिए। पंक्तियां इस प्रकार हैं- संसार विष नाशिन्यै जीवनायै नमोऽस्तु ते। ताप त्रय संहन्त्र्यै प्राणेश्यै ते नमो नमः॥ आज के दिन इन पंक्तियों का जप करने के बाद अपने घर के मंदिर में भगवान को पुष्पांजलि भेंट करें।

 

4. अगर आप अपने बिजनेस की तरक्की चाहते हैं तो आज के दिन आपको पानी पीने योग्य कोई पात्र ब्राह्मण को दान करना चाहिए और ध्यान रहे आप जो भी दान करें उसे दस की संख्या में दान करना है यानि आपको 10 ब्राह्मणों को अलग-अलग पानी पीने योग्य कोई एक पात्र दान करना है लेकिन अगर आप इतनी संख्या में दान करने में समर्थ नहीं हैं तो आप केवल एक ब्राह्मण को पानी का पात्र दान करें और बाकी नौ ब्राह्मणों का आशीर्वाद प्राप्त करें। लेकिन अगर आपको अपने घर के आसपास 10 ब्राह्मण न मिलें तो किसी एक ब्राह्मण के ही पैर दस बार छू लें। इससे आपको दस ब्राह्मणों के आशीर्वाद के समान ही पुण्य फल प्राप्त होगा। साथ ही आपके बिजनेस की तरक्की होगी।

 

5. अगर आप हर प्रकार की मुसीबतों से अपने आपको बाहर निकालना चाहते हैं तो आज के दिन आप इन पंक्तियों का जप करें और मन ही मन गंगा मैय्या का ध्यान करें। वो पंक्तियां है- शरणागत दीनार्त परित्राण परायणे। सर्वस्यार्ति हरे देवि! नारायणि ! नमोऽस्तु ते॥

 

6. अगर आप अपने हर कार्य की सफलता सुनिश्चित करना चाहते हैं आज के दिन गंगा के इस मूलमंत्र का जप करें। मंत्र इस प्रकार है- ‘ओं नमो गंगायै विश्वरूपिण्यै नारायण्यै नमो नमः।’ आज गंगा दशहरा के दिन इस मंत्र का 108 बार जप करने से हर कार्य में आपकी सफलता सुनिश्चित होगी।

 

7. अगर आप अपना कल्याण करना चाहते हैं और हर तरह के सुखसाधन पाना चाहते हैं तो आज के दिन आपको ‘गंगा दशहरा स्तोत्र’ में दी गई इन पंक्तियों का जप करना चाहिए। पंक्तियां हैं- भुक्ति मुक्ति प्रदायिन्यै भद्रदायै नमो नमः। भोग उपभोग दायिन्यै भोगवत्यै नमोऽस्तु ते॥

8. अगर आपको नौकरी संबंधी किसी प्रकार की परेशानी का सामना करना पड़ रहा है और आप उस परेशानी से बाहर निकलना चाहते हैंं तो आज के दिन स्नान आदि के बाद शिव मंदिर में जाकर भगवान शिव की उचित विधि से पूजा करें। साथ ही शिवलिंग पर जलाभिषेक करें और बेल का फल अर्पित करें। बाद में हाथ जोड़कर भगवान से अपनी नौकरी संबंधी परेशानी से छुटकारा पाने के लिये प्रार्थना करें।

 

9. अगर आपके मन में हर समय कोई न कोई उलझन बनी रहती है जिसके चलते आप कुछ नया नहीं कर पा रहे हैं तो अपने मन की शांति के लिये आज के दिन इन पंक्तियों का जप करें। पंक्तियां हैं- शांति संतान कारिण्यै नमस्ते शुद्ध मूर्त्तये। सर्व संशुद्धि कारिण्यै नमः पापारि मूर्त्तये॥

 

10. अगर आपको घर में अग्नि या चोरी आदि का डर लगा रहता है तो इन सब भय से अपने आपको बचाने के लिये आज के दिन एक कोरे कागज पर अपने हाथों से गंगा स्तोत्र लिखें और बाद में उस कागज को अच्छे से फोल्ड करके घर में किसी सुरक्षित स्थान पर रख दें। गंगा स्तोत्र आपको इंटरनेट पर आसानी से उपलब्ध हो जायेगा।

 

11. अगर आप लोगों से अपनी मित्रता कायम रखना चाहते हैं और जीवन में समृद्धि पाना चाहते हैं तो आज के दिन आपको इस पंक्ति का जप करना चाहिए। पंक्तियां इस प्रकार है – नमस्ते विश्वमित्रायै नन्दिन्यै ते नमो नमः॥ आज के दिन इस पंक्ति का 21 बार जप करने से लोगों से आपकी मित्रता कायम रहेगी और जीवन में आपको खूब समृद्धि मिलेगी।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!