बेखौफ चल रहा अवैध लकड़ी का कारोबार, प्रशासन मौन

बेखौफ चल रहा अवैध लकड़ी का कारोबार, प्रशासन मौन

मिर्जापुर उत्तर प्रदेश

प्रदेश में सरकार के पुनर्गठन पर लोगों को उम्मीदें जागी थीं कि अब अवैध कारोबार पर अंकुश लगेगा। लकड़ी माफियाओं पर पुलिस शिकंजा कसेगी, लेकिन माफिया के खिलाफ कार्रवाई में शिथिलता नजर आ रही है। अवैध कारोबार रुकने के बजाय बेतहाशा बढऩे लगा है।

जानकारी के अनुसार मिर्जापुर जिले के राजगढ़ भावा , मड़िहान, आसपास क्षेत्र के ग्रामीण इलाकों में इन दिनों प्रतिबंधित वृक्षों की कटाई का अवैध व्यापार जोरों पर है। इस कार्य को रोकने में संबंधित स्थानीय विभागीय अफसर भी लाचार नजर आ रहे हैं। सूत्रोंं से पता चला है कि इस अवैध कार्य के कारोबार को बढ़ावा देने में संबंधित विभागीय अफसरों की मौन सहमति व संरक्षण है। उल्लेखनीय है कि ट्रैकों पर टन के टन लड़कियों को लाद कर बिना किसी वेद मान्य कागज के गाड़ियों का लकड़ी लाद कर मध्य रात्रि मे अलग-अलग जिलों में भेजा जा रहा है/ जिसमें निम्न प्रकार से उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर से इलाहाबाद बाराबंकी, रायबरेली, सीतापुर, में मिर्जापुर से लकड़ियां अवैध रूप से भेजी जा रही है इस गैर कानूनी प्रतिबंधित कारोबार के लिए सुरक्षित ठिकाना व केंद्र साबित हो रही हैं। पूरी व्यवस्था के साथ इलाके में वन माफिया जबरदस्त प्रभाव व राजनीतिक सहभागिता के साथ सक्रिय है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!