डॉ० रमाशंकर सिंह यादव बालकृष्ण भट्ट पुरस्कार से अलंकृत

RIPORT VIKASH TIWARI

जनपद के वरिष्ठ रचनाकार डॉ० रमाशंकर सिंह यादव को गत दिवस लखनऊ विश्वविद्यालय, लखनऊ स्थित मालवीय सभागार में राज्य कर्मचारी साहित्य संस्थान, उ०प्र० द्वारा आयोजित भव्य ‘अलंकरण समारोह 2023-24’ में उनकी कृति ‘किस्सागोई’ के लिए ‘बालकृष्ण भट्ट पुरस्कार’ राज्यसभा सांसद एवं प्रदेश के पूर्व उपमुख्यमंत्री डॉ० दिनेश शर्मा द्वारा प्रदान किया गया। पुरस्कार स्वरूप संस्थान द्वारा उन्हें उक्त समारोह में सम्मान पत्र, स्मृति चिह्न, अंगवस्त्र व अतिरिक्त एक लाख रुपये की पुरस्कार राशि भेंट की गयी। इस अवसर पर पुरस्कृत साहित्यकारों के अतिरिक्त अपर मुख्य सचिव श्री जितेन्द्र कुमार (IAS) उ०प्र० शासन, श्री एम. पी. अग्रवाल(IAS) प्रमुख सचिव उ. प्र. शासन, डा० हरिओम(IAS) प्रमुख सचिव उ. प्र. शासन, श्री जयशंकर पांडेय क्षेत्रीय संयोजक, संस्थान के अध्यक्ष डॉ० अखिलेश मिश्र, सचिव सीमा गुप्ता आदि उपस्थित रहे।
जनपद के छानबे विकास खण्ड के अन्तर्गत ग्राम- कलना गहरवार निवासी डॉ० रमाशंकर सिंह यादव पशुधन प्रसार अधिकारी पद से सेवानिवृत्ति के पश्चात् अनवरत साहित्य साधना में रत हैं। वर्तमान में विभिन्न विषयों एवं विधाओं में इनकी अब तक कुल 6 कृतियाँ- ‘मानस के प्रान’, ‘मैथिली’, ‘नारी संसार’, ‘किस्सागोई’, ‘दारूवाला’, ‘वैलेंटाइन डे’ आदि प्रकाशित हो चुकी हैं। डॉ० रमाशंकर सिंह यादव को इससे पूर्व भी अनेक साहित्यिक-सामाजिक संस्थाओं द्वारा सम्मानित किया जा चुका है।
उनकी इस उपलब्धि पर जनपद के साहित्यकारों बृजदेव पाण्डेय, भोलानाथ कुशवाहा, गणेश गम्भीर, केदारनाथ सविता, लल्लू तिवारी, अरविन्द अवस्थी, धर्मदास, डॉ० अनुराधा ओस, डा० रंजना जायसवाल, आनन्द अमित, सारिका चौरसिया, डॉ० सुधा सिंह, नन्दिनी वर्मा, शुभम् श्रीवास्तव ओम, श्याम अचल, इला जायसवाल, पूजा यादव, श्रृष्टि राज आदि के अतिरिक्त ग्राम प्रधान कलना गहरवार शान्ती देवी व ग्रामसभा के समस्त बुद्धजीवी लोगों ने प्रसन्नता व्यक्त की है एवं डॉ० रमाशंकर सिंह यादव को शुभकामनाएँ प्रेषित की हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!