वृहद पशु अरोग्य शिविर एवं मंडल स्तरीय मेला का मा0 केंद्रीय राज्यमंत्री ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया शुभारंभ

  • रिपोर्ट विकास तिवारी
  • मीरजापुर 21 जनवरी 2024 को मड़िहान विधानसभा, विकासखंड पटेहरा क्षेत्र के ग्राम पंचायत पटेहरा कलां, न्याय पंचायत पड़रिया कला में पंडित दीन दयाल उपाध्याय वृहद पशु अरोग्य शिविर एवं मेला का मंडल स्तरीय आयोजन किया गया। मेले का शुभारम्भ मा0 केंद्रीय राज्यमंत्री वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय भारत सरकार श्रीमती अनुप्रिया पटेल ने गौ पूजन व फीता काटकर तथा दीप प्रज्जवलित कर किया। आरोग्य मेले में आने वाले सभी पशुओं का विभिन्न पशु विशेषज्ञ चिकित्सकों द्वारा निशुल्क परीक्षण किया जाएगा। उन्हें इलाज, बधियाकरण, कृत्रिम गर्भधान और जरूरत के हिसाब से दवाइयों का निशुल्क वितरण किया जाएगा। मेले में कृषि, उद्यान, डेयरी, मत्स्य और केसीसी, पोल्ट्री विभाग द्वारा स्टाल लगा कर प्रदेश सरकार द्वारा संचालित सभी योजनाओं से पशुपालकों को अवगत कराया जाएगा। पशुपालकों को सरकार द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं की जानकारी भी प्रदान की जाएगी।

मा0 केंद्रीय राज्यमंत्री वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय भारत सरकार श्रीमती अनुप्रिया पटेल ने कहा कि आज के समय में लोगों के लिए पशुपालन आजीविका का एक बड़ा साधन बन रहा है। सरकार पशुपालकों के कल्याण के लिए कई योजनाएं संचालित कर रही है जिनका लाभ उठाकर पशुपालक अपनी आर्थिक स्थिति को सुदृढ़ करने के साथ-साथ पशुपालन को बेहतर आजीविका का साधन भी बना सकते हैं। वृहद पशु आरोग्य शिविर मेला का शुभारंभ करने के पश्चात उन्होंने पशुपालकों से अपने पशुओं का पंजीकरण कराने की सलाह देते हुए कहा कि इससे कई प्रकार के लाभ भी हासिल कर सकते हैं। उन्होंने कहा पशु से उत्पादन तभी बेहतर मिलेगा जब हम उनकी बेहतर देखभाल करेंगे। मा0 केंद्रीय राज्यमंत्री ने कहा कि पशुओं की बेहतर चिकित्सा सेवा व्यवस्था के लिए जिले में 27 पशु चिकित्सालय, 27 पशु सेवा केंद्र संचालित हैं। इसके अलावा एक चलता फिरता अस्पताल यानी मोबाइल वैन भी पशुओं, पशु पालकों की सेवा के लिए तत्पर है। टोल फ्री नंबर 1962 पर कॉल करने पर आपके पास यह गाड़ी तुरंत पहुंचेगी और पशुओं को बेहतर मदद भी मिलेगी। श्री राज्य मंत्री ने कृषि के साथ-साथ बकरी पालन, भेड़ पालन, कुक्कट पालन पर बल देते हुए कहा कि यह सरकार की प्राथमिकताओं में है कृषि पर ही आधारित न है पशुपालन को आजीविका बढ़ाने का मजबूत आधार बनाया जा सकता है पुराने तरीके को त्याग कर नए तरीके से प्रयोग और तकनीकी को अपनाकर पशुपालन के जरिए आर्थिक स्थिति में बदलाव लाया जा सकता है इसके लिए सरकार भी पशुपालकों को प्रोत्साहित करने के साथ-साथ कई योजनाओं के जरिए लाभान्वित कर रहे हैं इसके लिए उन्होंने पशुपालकों को पशुओं के पंजीकरण की सलाह देते हुए कहा कि 10 हजार से ज्यादा पशुपालकों ने पंजीकरण कराया है। केंद्रीय राज्य मंत्री ने निराश्रित गोवंशों के संरक्षण के लिए जिले में बनाए गए 40 निराश्रित गोवंश आश्रय स्थलों की चर्चा करते हुए बताया गोवंश आश्रय स्थलों में निराश्रित गोवंशों के रहने खाने पीने की समुचित व्यवस्था के प्रबंध है। यदि कहीं भी निराश्रित गोवंश खेतों या सड़कों इत्यादि पर दिखाई देते हैं तो उन्हें निराश्रित गोवंश स्थलों पर पहुंचाया जा सकता है ताकि उनके रहने खाने का समुचित प्रबंध हो सके। बताया कि जिले में मुख्यमंत्री प्रगतिशील पशु पालक प्रोत्साहन योजना के तहत 107 का लक्ष्य मिला है, जिसमें 89 पशुपालकों चयन किया गया है, दुधारू पशु है लेकिन बांझपन है इसके लिए भी सरकार गंभीर है ताकि दुधारू पशुओं के बांझपन को दूर कर पशुपालकों को बेहतर लाभ दिया जा सके पशुओं के समय-समय पर टीकाकरण के साथ-साथ सरकार द्वारा पशुओं के स्वास्थ्य देखभाल के लिए भी पशु चिकित्सालय एवं के माध्यम से त्वरित चिकित्सा सुविधा भी मुहैया कराई जा रहे हैं। मा0 केंद्रीय राज्यमंत्री ने पशुओं के देखभाल के साथ-साथ ठंड के दिनों में उन्हें ताजा पानी देने और संतुलित आहार देने, समय पर पशुओं के टीकाकरण पर जोर दिया। इस अवसर पर मा0 विधायक छानबे रिंकी कोल, मुख्य विकास अधिकारी विशाल कुमार, एडिशनल डायरेक्टर डॉक्टर पीएन सिंह, कृषि वैज्ञानिक विशेषज्ञ, पशु-चिकित्सक अधिकारी, जिला पंचायत सदस्य मनीष सिंह, राष्ट्रीय सचिव मुन्नर प्रजापति, प्रदेश सचिव रामवृक्ष बिंद, प्रदेश सचिव व्यापार मंच सुनील सिंह, जिला उपाध्यक्ष राजकुमार पटेल, भाजपा जिला उपाध्यक्ष सोनू सिंह, जोन अध्यक्ष रामविलास पटेल, राकेश सिंह, मुसाफिर मौर्य, श्याम कुशवाह, आरिफ अली मंसूरी, प्रशांत शुक्ला, दीनानाथ पटेल, अपर निदेशक डॉ रमेश चंद, नोडल अधिकारी डॉक्टर पी.एस. सिंह, उप जिलाधिकारी मड़िहान युगांतर त्रिपाठी, उपास्थित रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!