राणी सती दादी मंगल महोत्सव इस बार होगा प्रभु श्रीराम को समर्पित

राणी सती दादी मंगल महोत्सव इस बार होगा प्रभु श्रीराम को समर्पित

 

रोहित सेठ

 

राणी सती दादी मंगल महोत्सव इस बार होगा प्रभु श्रीराम को समर्पित महाराणा प्रताप के वंशज कराएंगे 1100 महिलाओं को मंगल पाठ वाराणसी। पाँच सौ वर्षों की प्रतिक्षा के बाद अयोध्या में रामलला के नूतन विग्रह के प्राण प्रतिष्ठा से एक दिन पूर्व धर्मनगरी काशी भी धर्म के रंग में रंगी नजर आएगी। काशी का मारवाड़ी समाज इस अवसर को ऐतिहासिक बनाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहा। इसी दृष्टिकोण से प्रतिवर्ष आयोजित होने वाले राणी सती दादी मंगल महोत्सव इस बार प्रभु श्रीराम को समर्पित रहेगा। आगामी 21 जनवरी, 2024, दिन रविवार को मध्यान्ह 12 बजे से सिगरा स्थित स्ट्राक्ष कोनवेंशन सेंटर में एक साथ समाज की 1100 महिलाएं मंगल पाठ करेंगी। जय दादी नाम बैंक, काशी दवारा आयोजित महोत्सव में पहली बार बहाराणा प्रताप के वंशज ख्यात मंगल पाठ वाचक कुंवर तेजस राणा (अजमेर) से पधार रहे है जिनके साथ 1100 महिलाएं संगीतमय पाठ संग नृत्यनाटिका प्रस्तुत करेंगी। उक्त जानकारी शुक्रवार को लक्सा स्थित मारवाड़ी समाज भवन में आयोजित पत्रकार वार्ता में संस्था के पदाधिकारियों ने दी। संस्था के संरक्षक प्रमुख उद्‌योगपति रमेश कुमार चौधरी: अध्यक्ष प्रदीप तुलस्यान कृष्ण गोपाल तुलस्यान जगदंबा तुलस्थान महेश चौधरी ने संयुक्त रूप से बताया कि राणी सती दादी मंगल महोत्सव में पहली बार राणी सती दादी के भक्त बहाराणा प्रताप के वंशज एवं मंगल पाठ वाचक कुंवर तेजस राणा वाराणसी पधार रहे है। उनके द्वारा संगीत मय मंगल पाठ पढ़ा जायेगा। 56 भोग की सजेगी झाँकी- मंगल महोत्सव की तैयारियां अपने अंतिम चरण में है। स्टेज और परिसर को सजाने के लिए कोलकाता से कारीगर बुलाये गए है जो रुद्राक्ष को अलग ही कलेवर प्रदान करेंगे। रंग बिरंगे फूलों से सजे दिव्य सिंहासन पर राणी सती दादी विराजमान होंगी। इसके साथ ही दादी को 56 भोग लगाया जाएगा। मंगल पाठ के उपरांत भजन संध्या का आयोजन होगा जिसमें स्थानीय कलाकारों के साथ कोलकाता के प्रख्यात भजन गायक सौरभ मधुकर भी प्रस्तुति देंगे। मंगल पाठ में सभी महिलाएं लाल चुनडी में एक रंग की साड़ी पहन कर भाग लेंगी। इस मौके पर राणी सती दादी के जीवन वृत्त की सजीव झाँकी प्रस्तुत की जाएगी। उन्होंने यह भी बताया कि आयोजन को लेकर भक्तों में खासा उत्साह है, सभी अपने रामलला के दिव्य, नव्य और भव्य मंदिर में विराजमान होने के लिए उत्सुक है। काशी में यह आयोजन उन्ही को समर्पित रहेगा।

 

प्रेस वार्ता में मुख्य रूप से. भरत सराफ राधे गोविन्द केजरीवाल अशोक गिनोड़िया, सुरेश तुलस्यान, संजय अग्रवाल अग्गू, विकास भावसिंका, संजय पंसारी, राजेश तुलस्यान उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!