भाषा दर्शन विषयक संगोष्ठी का अयोजन किया गया

भाषा दर्शन विषयक संगोष्ठी का अयोजन किया गया

 

रोहित सेठ  वाराणसी

 

विश्व हिन्दी दिवस पर शिक्षाशास्त्र विभाग में समसामयिक शैक्षिक परिप्रेक्ष्य में भाषा दर्शन विषयक संगोष्ठी का अयोजन किया गया जिसमें विषय प्रवर्तन करते हुए विभागाध्यक्ष प्रो. सुरेन्द्र राम ने कहा कि आज हिंदी पूरे विश्व की भाषा बनती जा रही है। मुख्य वक्ता के रुप में बोलते हुए हिंदी विभाग के पूर्व अध्यक्ष प्रो. श्रद्धानंद ने अपने विचार व्यक्त करते हुए समसामयिक शैक्षिक परिप्रेक्ष्य में भाषा दर्शन पर विस्तार पूर्वक प्रकाश डाला तथा बताया कि हिंदी अपनी क्षमता से वैश्विक भाषा बनने की ओर अग्रसर है। देश की आजादी की लड़ाई में हिंदी भाषा का प्रमुख योगदान रहा है। दुनिया के बीस से अधिक देशों में बोली जाने वाली भाषा हिंदी है हमे अपनी भाषा के प्रति संवेदनशील होना पड़ेगा क्योंकि यह सर्वजन की भाषा है। उक्त अवसर पर डा. दिनेश कुमार, डा. ध्यानेंद्र कुमार मिश्रा, डा . वीणा वादिनी, डा. राखी देब, डा . अभिलाषा जायसवाल, रमेश प्रजापति, ज्योत्सना राय, विनय सिंह, शिखा, पूनम, ज्योति, रोहिणी, रीता एवं समस्त विद्यार्थी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन डा. राजेंद्र यादव तथा धन्यवाद ज्ञापन प्रो. रमाकांत सिंह ने किया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!