जिलाधिकारी ने नवभारत साक्षरता एवं समग्र शिक्षा अभियान कार्यक्रम की समीक्षा कर अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए

जिलाधिकारी ने नवभारत साक्षरता एवं समग्र शिक्षा अभियान कार्यक्रम की समीक्षा कर अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए

 

रोहित सेठ वाराणसी

 

सेवापुरी एवं काशीविद्यापीठ की प्रत्येक ग्राम का सर्वे कर 15 प्लस से अधिक आयु वर्ग के नवसाक्षर का चिन्हाकन कर उन्हें साक्षर बनाया जाय-एस.राजलिंगम

 

एक सप्ताह में सर्वे का कार्य सभी खंड विकास अधिकारी एवं खंड शिक्षा अधिकारी पूर्ण कर ले

 

डीएम ने डीटीएफ एवं बीटीएफ के अधिकारियों द्वारा विद्यालयों का निरीक्षण न किए जाने पर नाराजगी जताते हुए जवाब-तलब किया

 

वाराणसी। जिलाधिकारी एस. राजलिंगम की अध्यक्षता में नवभारत साक्षरता कार्यक्रम एवं समग्र शिक्षा अभियान बेसिक शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक शुक्रवार को जिला राइफल क्लब सभागार में हुआ। जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि जनपद के दो विकास क्षेत्र सेवापुरी एवं काशीविद्यापीठ की प्रत्येक ग्राम का सर्वे कर 15 प्लस से अधिक आयू वर्ग के नवसाक्षर का चिन्हाकन कराया जाए तथा उन्हें साक्षर बनाए जाने के लिए ग्राम पंचायत अथवा निकटतम परिषदीय विद्यालय में कक्षा संचालित करते हुए उनका प्रशिक्षण दिलवाया जाए।

एनआईएलपी मोबाइल एप के माध्यम से इनका फीडिंग पोर्टल पर करवाया जाए। इसके लिए सभी पंचायत सहायक जो की ग्राम पंचायत में कार्यरत हैं उनको लगाया जाए। एक सप्ताह में सर्वे का कार्य सभी खंड विकास अधिकारी एवं खंड शिक्षा अधिकारी पूर्ण कर ले। इस संबंध में बीआरसी पर ग्राम पंचायत सहायक का प्रशिक्षण खंड शिक्षा अधिकारी दिलवाएं और उनको ऐप की जानकारी भी उपलब्ध करवाई जाए। दो विकास क्षेत्र को साक्षर करने के बाद जनपद के अन्य दो विकास क्षेत्र में कार्यक्रम करते हुए चिन्हाकन कराकर उनका भी प्रशिक्षण दिलवाया जाए।

समग्र शिक्षा की बैठक में जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि जनपद के 6 विद्यालय जहां विद्युत कनेक्शन नहीं है, उसको क्रिटिकल गैप से कराए जाने के लिए बजट की मांग कर लें। फर्नीचर जिन विद्यालयों में नहीं है, इसके लिए सीएसआर फंड से पावर ग्रिड कोल इंडिया एनटीपीसी को पत्र भेज कर धनराशि की मांग की जाए। डीटीएफ एवं बीटीएफ के अधिकारियों द्वारा विद्यालयों का निरीक्षण नहीं किया जा रहा है, इसके लिए उन्होंने नाराजगी व्यक्त करते हुए जवाब-तलब किया। साथ ही एक दिन का वेतन की कटौती किए जाने के भी निर्देश दिए। सपोर्टिंग सुपरविजन डाइट मेंटर बड़ागांव द्वारा नहीं किया गया है, इसके लिए भी नाराजगी व्यक्त की गई। उन्होने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित किया कि आरबीएस के टीम द्वारा जो बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया है, उसमें कितने बच्चे रेफर किए गए और कितने का ट्रीटमेंट हो गया। इसकी सूचना उपलब्ध करवाई जाये।इसके अलावा जिनके आधार बैंक एकाउंट से सीडेड नहीं हैं, उसको तत्काल सीडेड करवाया जाए। जिससे उनको डीबीटी प्राप्त हो सके। सभी खंड शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया गया कि विकास क्षेत्र स्तर पर जो शिक्षक अच्छा कार्य कर रहे हैं, अपने विद्यालय को निपुण बनाने में सराहनीय कार्य कर रहे हैं उनके कार्यों की सराहना करते हुए उनको प्रशस्ति पत्र दिलवाया जाए। निर्माण कार्य की गुणवत्ता के संबंध में निर्देश दिया कि इसका नियमित अनुश्रवण किया जाय तथा जो कार्य स्वीकृत हैं वह सभी कार्य गुणवत्तापूर्ण ढंग से पूर्ण करवाया जाए।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी हिमांशु नागपाल तथा जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, प्राचार्य डाइट, जिला विद्यालय निरीक्षक, जिला कार्यक्रम अधिकारी आईसीडीएस, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी एवं समस्त खंड शिक्षा अधिकारी व समस्त खंड विकास अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!