साल के अंतिम दीन जसलीन मथारु के गीतों पर जमकर थिरके लोग, केक काटकर मनाया नए साल का जश्न

VARANASI UP

नए साल को सेलिब्रेट करने के लिए लोग पार्टियों में शरीक होते हैं, अपने परिजनों से मिलते हैं।  लोगों ने आतिशबाजी के साथ नए साल का स्वागत किया। नए साल के मौके पर रमाडा बाई विडंम में भारी संख्या में लोग जुटे। लोग बीते साल की अच्छी यादों को संजोने और बुरी यादों को भूलकर एक नए साल के स्वागत के लिए बेताब  आतिशबाजी प्रदर्शन और लाइट शो का आयोजन किया गया  लगभग 4000 साल पहले बेबीलीन नामक जगह पर सबसे पहले न्यू ईयर मनाया गया था. लेकिन उस समय नए साल का जश्न एक जनवरी को नहीं बल्कि 21 मार्च को मनाया जाता था. … इसे बसंत आगमन की तिथि के रूप में भी मनाया जाता था. 1 जनवरी को नए साल के रूप में मनाने की शुरुआत 15 अक्टूबर 1582 में हुई थी उसी क्रम में वाराणसी के कटेसर स्थित रामादा बाई विंडम में नए साल का जश्न जोरदार तरीके से मनाया गया ।जहां पर की मेहमानों के लिए 151 प्रकार के लजीज व्यंजन तैयार किए गए थे वही बॉलीवुड लाइव सिंगर जसलीन माथारू की परफॉर्मेंस ने लोगों का मन मोह लिया रमाडा बाई विंडम के द्वारा मेहमानों के लिए आकर्षक गेम के साथ-साथ लकी ड्रा एवं तमाम सरप्राइज गिफ्ट भी दिए गए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!