मिर्जापुर को सन 2025 तक टीबी मुक्त श्रेणी में लानें हेतु प्रयास जारी

जनपद मिर्जापुर को सन 2025 तक टीबी मुक्त श्रेणी में लानें हेतु जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ अनिल कुमार ओझा के मार्गदर्शन में क्षय विभाग द्वारा लगातार युद्ध स्तर पर प्रयास जारी रखा गया है, विभाग द्वारा उपरोक्त लक्ष्य को मद्देनजर रखते हुए जनपद में स्कूल – कॉलेज, क्रेशर प्लांट, खदान, ईट भट्टे, मलिन बस्ती, आदि स्थानों पर पहुंच कर ज्यादा से ज्यादा लोगों को इस गंभीर बीमारी के लक्षणों, एवं रोग से पड़ने वाले प्रतिकूल प्रभावों की जानकारी देने के साथ-साथ सरकारी स्तर से उपलब्ध नि:शुल्क जांच, इलाज एवं पूरे अवधि तक इलाज के दौरान मरीज के खाते में ₹500 प्रति माह के विषय में विस्तृत जानकारी देते हुए जनपद वासियों को जागरुक करने का प्रयास निरंतर जारी रखा गया है।
उपरोक्त लक्ष्य के तहत ही आज दिनांक 12 अगस्त 2023 को जनपद मुख्यालय पर स्थित जीडी बिनानी पीजी कॉलेज में उपस्थित छात्र छात्राओं के बीच जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें डिस्ट्रिक्ट कोऑर्डिनेटर सतीश शंकर यादव द्वारा उपरोक्त जानकारियों को देने के पश्चात उनसे कहा गया कि युवा शक्ति एक बड़ी शक्ति होती है यदि आप सभी युवा अपने अपने निवास स्थान से सटे मात्र पांच घरों के लोगों को भी इस गंभीर बीमारी के प्रति जागरूक करने, तथा लक्ष्मण प्रभावित व्यक्ति को सरकारी अस्पताल तक पहुंचाने का मानवीय बिड़ा उठा लेते हैं तो निश्चित रूप में देश और समाज हित में यह एक बड़ी पहल होगी।
उक्त क्रम में ही क्षय विभाग प्रोग्राम कोऑर्डिनेटर श्रीमती संध्या गुप्ता द्वारा बताया गया कि अब जनपद के समस्त ब्लॉकों के एडिशनल पीएचसी और आयुष्मान भारत हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर पर भी क्षय रोगियों के हित में जांच उपचार सुविधा सरकार द्वारा उपलब्ध करा दी गई है।
कार्यक्रम के दौरान 6 विभाग के अवध बिहारी कुशवाहा विनोद कुमार सोनकर, अखिलेश पांडे, अंशुमान के साथ-साथ विद्यालय प्रधानाचार्या प्रोफेसर बिना सिंह एवं डॉ सुशील कुमार त्रिपाठी, डॉ राम मोहन अस्थान, डॉक्टर अखिलेश मिश्रा, वसीम अंसारी आदि उपस्थित रहे।

मिर्ज़ापुर से दिनेश कुमार मौर्य के साथ विकास तिवारी की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!