वाराणसी में वार्निंग लेवल के करीब गंगा, 68 मीटर से ऊपर पहुंचा जलस्तर, बढ़ा खतरा

गंगा में उफान जारी है। मंगलवार को गंगा का पानी 68 मीटर के पार पहुंच गया। जलस्तर चेतावनी बिंदु से महज दो मीटर नीचे है। ऐसे में तटवर्ती इलाकों में बाढ़ का खतरा बढ़ गया है। इसको लेकर आसपास रहने वाले लोग सशंकित हैं। गंगा के जलस्तर में वृद्धि को देखते हुए प्रशासन ने निगरानी बढ़ा दी है। गंगा में नौका संचालन रोकने के साथ ही लोगों से सावधानी बरतने की अपील की जा रही है।

गंगा का जलस्तर पिछले चार दिनों से बढ़ रहा है। रविवार को गंगा का जलस्तर 10 सेंटीमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से बढ़ रहा था। सोमवार को रफ्तार चार सेंटीमीटर प्रति घंटा रही। केंद्रीय जल आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक मंगलवार की सुबह आठ बजे गंगा का जलस्तर 68.30 मीटर पहुंचकर स्थिर था। जलस्तर बढ़ने से घाटों की सीढ़ियां डूबने लगी हैं। वहीं निचले इलाकों में पानी घुसने लगा है। गंगा की वजह से वरुणा में भी पलट प्रवाह हो रहा है। इससे वरूणा के तटवर्ती इलाकों में भी बाढ़ का खतरा बढ़ गया है।

पर्वतीय इलाकों में लगातार बारिश व बाढ़ के चलते गंगा के जलस्तर में तेजी से हो रही बृद्धि को देखते हुए प्रशासन अलर्ट है। एनडीआरएफ व जल पुलिस की टीम चौकन्ना है। घाटों पर निगरानी की जा रही है। गंगा के आसपास के इलाकों में रहने वाले लोग भी सावधानी बरत रहे हैं। मकान के ग्राउंड फ्लोर को खाली किया जा रहा है और पूरी सतर्कता बरती जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!